शनिवार, 23 अप्रैल 2011

अपनी अलग पहचान बनाने की आदत है हमे !

सबको प्यार देने की आदत है हमे ,
अपनी अलग पहचान बनाने की आदत है हमे !
कितना भी गहरा जख्म दे कोई हमे ,
उतना ही ज्यादा मुस्कुराने की आदत है हमे !!
कभी याद आती है कभी ख्वाब आते हैं हमे ,
मुझे सताने के सलीके उन्हें बेहिसाब आते है उन्हें !

एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट