शुक्रवार, 15 जुलाई 2016

एक ख़ास वजह.....

एक ख़ास वजह है.....यूं, 
सबसे झुककर के मिलने की....

मिट्टी का बना हूँ....

गरुर जचता नहीं मुझ पर.....
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट