बुधवार, 17 जुलाई 2013

मर ना सके हम.......

मर ना सके हम तुझसे बिछड़ने के बाद
इस दुनियां में  है जी कर क्या करना.......
क्या कहूँ मैं तुझसे बिछड़ने  के बाद
तेरी यादों में है जीना बड़ी बात........
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट