गुरुवार, 23 मई 2013

अब तो सो जाने दो मुझे..........

अब तो सो जाने दो मुझे.....
पर कम्बखत अकेले नीद नहीं आती.....
जब सुबह उठाना चाहता हूँ.......
तो ये निदिया रानी कहती है सो जाओ.........

रात में सोने नहीं देती है......
सुबह कहती है अभी उठाने का समय नहीं है........
अब क्या करूँ दोस्तों मुझे समझाओ.......
सोऊ या जागूँ कुछ तो उपाय बताओ............
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट