रविवार, 22 मई 2016

ठोकर.....

तुम मुझे समझाओगे ठोकर का मतलब.......

मैं तो एक अरसे तक पत्थर रहा हूँ..........
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट