मंगलवार, 21 जुलाई 2015

ऊँचा पद.....









यूँ ही खीच तान में जब बिखर गया समाज
बड़ा पद हमको चाहिए पर करना नहीं कुछ काम
करना नहीं है कुछ काम पर पद बड़ा ही चाहिए....$.
झूठे दिखावे की चाह में बनगया और एक समाज
जब बनायेंगे एक नया समाज
उसमें ऊँचा होगा मेरा नाम....$.
एसा करते करते कितना बनेगा समाज
लोगों में भ्रम होगया अब कौन करेगा बढियां काम.....
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट