शनिवार, 11 अप्रैल 2015

सब जल गया.....

आग लगी थी. . मेरे घर को 
किसी सच्चे
दोस्त ने पूछा -:"क्या बचा है. . ? ?".
मैने कहा -: "मैं बच गया हूँ. . ! !".
उसने गले लगाकर कहा -: 
"फिर जला ही क्या है।"
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट