रविवार, 5 जनवरी 2014

यूँ ही....

यूँ ही झूठ ही कह देते,
हमें दर्द का एहसास है।
सच में मैं मेरे दर्द को
जानबूझ के यूँ ही भूल जाता ।।

एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट