रविवार, 25 मार्च 2012

मत पूछो यारो.............

मत पूछो यारो हमसे क्या चीज जवानी है ।

छेड़ो तो नगमा है वर्ना खामोश कहानी है।

उम्र का ऐसा दौर है ये जब दिल बेकाबू होता है,

रोक सका न इसको कोई ये वो दरिया तूफानी है ।
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट