शुक्रवार, 7 फ़रवरी 2014

हिंदी......

क्या बात है क्या बात हो जाती है कभी कभी 
क्यूँ उनको शर्म आ जाती है हिंदी बोलने में कभी कभी 

हमने तो इतना ही बोला कि बोल दो हिंदी कभी कभी
उन्होंने भी बोला कि हिंदी आती है मुझे कभी कभी 

अब तो ये हाल है मेरे दोस्तों अपमानित हो जाती है
 हिंदी अपने ही देशमे........

एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट