गुरुवार, 14 मार्च 2013

अपने सपने.......

दिन इतनी जल्दी बीत जाती है......
रातें क्यूँ नहीं कटती है कोई तो बता दे.......
अपने सपने तो पुरे हुवे नहीं अभी........
अबतो बच्चो के सपने भी जुड़ गए......
एक टिप्पणी भेजें

लोकप्रिय पोस्ट